कम्युनिटी पुलिसिंग इनिशिएटिव ‘एंटीम सफर’ के तहत बाहरी जिले में दो एंबुलेंस को झंडी दिखाकर रवाना किया गया

Listen to this article

 ‘शांति सेवा संस्थान एनजीओ’ के सहयोग से एंबुलेंस तैनात

 एंबुलेंस का उपयोग शवों को नि:शुल्क उनके पैतृक स्थान तक पहुंचाने के साथ-साथ लावारिस शवों को मुर्दाघर तक पहुंचाने के लिए किया जाएगा

सामुदायिक पुलिस पहल ‘अंतिम सफर’ के तहत और ‘शांति सेवा संस्थान एनजीओ’ के सहयोग से डीसीपी कार्यालय परिसर, बाहरी जिले से दो एंबुलेंस को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। एंबुलेंस से शवों को नि:शुल्क उनके पैतृक स्थान पहुंचाया जाएगा साथ ही लावारिस शवों को मोर्चरी तक पहुंचाया जाएगा।

कार्यक्रम:

18.04.2023 को, बाहरी जिले की सामुदायिक पुलिसिंग पहल ‘अंतिम सफर’ के तहत और ‘शांति सेवा संस्थान एनजीओ’ के सहयोग से, दो एम्बुलेंस को श्री द्वारा हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। हरेंद्र सिंह, आईपीएस, डीसीपी, बाहरी जिला डीसीपी कार्यालय परिसर से श्री की उपस्थिति में। अमित वर्मा, आईपीएस, एडीएल। DCP-I, बाहरी जिला और श्री। एस.आर. मीना, एसीपी/मुख्यालय, जिन्हें बाहरी जिला पुलिस की अनुशंसा पर जरूरतमंदों को एंबुलेंस उपलब्ध कराकर मानवता की सेवा के लिए बाहरी जिले के अधिकार क्षेत्र में एनजीओ द्वारा नि:शुल्क तैनात किया जाएगा। इन एंबुलेंसों की सेवाओं का उपयोग शवों को उनके मूल स्थानों तक पहुंचाने के साथ-साथ पीसीआर कॉल के दौरान शवगृह तक लावारिस शवों को पहुंचाने के लिए किया जाएगा।

एंबुलेंस सेवा के टेलीफोन नंबर बाहरी जिले के प्रमुख स्थानों पर प्रदर्शित किए गए हैं, ताकि अधिक से अधिक लोग इस सुविधा का लाभ उठा सकें। इस नेक काम में उनके योगदान के लिए एनजीओ को भी प्रोत्साहित किया गया। ऐसी बातें आम जनता/समाज में मानवता की भावना को मजबूत करने में बहुत आगे तक जाती हैं।

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *