प्रधानमंत्री जी, दिल्ली पुलिस आपके अधीन आती है, क्या इसकी जांच होगी और दोषी जेल जाएंगे?- अरविंद केजरीवाल

Listen to this article
  • दिल्ली में क़ानून व्यवस्था चरमरा गई है, दूसरों के कामों में अड़चन डालने और गंदी राजनीति करने की बजाय सबको अपने-अपने काम पर ध्यान देना चाहिए- अरविंद केजरीवाल
  • अगर कानून-व्यवस्था नहीं संभलती तो इस्तीफ़ा दे देना चाहिए ताकि कोई और कर ले, लोगों की सुरक्षा राम-भरोसे नहीं छोड़ी जा सकती- अरविंद केजरीवाल
  • एलजी के नाक के नीचे दिल्ली पुलिस में 350 करोड़ का घोटाला हुआ, स्वतंत्र एजेंसी से इसकी जांच कराएं- सौरभ भारद्वाज
  • एलजी के अधीन दिल्ली पुलिस की ऑडिट में प्रोफेशनल सर्विस के पैसे को डायवर्ट कर फर्जी बिलों के जरिए 350 करोड़ रुपए का घोटाला सामने आया- सौरभ भारद्वाज
  • एलजी को अब तक इस घोटाले की जांच सीबीआई-ईडी को सौंप देनी चाहिए थी, वो चुप रहकर किसको बचाना चाहते हैं?- सौरभ भारद्वाज
  • केंद्र सरकार से जानना चाहते हैं कि दिल्ली पुलिस के बड़े अफसरों ने घोटाला किया और जांच भी दिल्ली पुलिस ही कर रही है, ऐसा क्यों?- सौरभ भारद्वाज
  • एलजी जनता को बताएं कि दिल्ली की बिगड़ती कानून-व्यवस्था को सुधारने के लिए क्या किया है और आगे क्या प्लान है?- सौरभ भारद्वाज
  • सबसे महफूज जगह कोर्ट में महिला पर हमला हो गया, प्रवेश द्वार पर पुलिस होने के बावजूद बंदूक अंदर कैसे पहुंची?- सौरभ भारद्वाज
  • द्वारका में वकील की हत्या हुई, बुजुर्ग दंपति की दिन-दहाड़े हत्या हुई, एलजी वहां जाकर फोटो क्यों नहीं खिंचवाते हैं?- सौरभ भारद्वाज

आम आदमी पार्टी ने प्रधानमंत्री और एलजी से केंद्र सरकार के अधीन दिल्ली पुलिस में हुए 350 करोड़ रुपए के घोटाले की निष्पक्ष जांच कराकर दोषियों को जेल भेजने की मांग की है। साथ ही, साकेत डिस्ट्रिक्ट कोर्ट परिसर में महिला पर हुए जानलेवा हमले की घटना को दिल्ली की बिगड़ती कानून व्यवस्था का परिणाम बताया है। शुक्रवार को ‘‘आप’’ के राष्ट्रीय संयोजक एवं सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर प्रधानमंत्री से सीधा सवाल किया। उन्होंने पीएम से पूछा है कि दिल्ली पुलिस आपके अधीन आती है। क्या इसकी जांच होगी और क्या दोषी जेल जाएंगे? कानून व्यवस्था पर सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में क़ानून व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है। दूसरों के कामों में अड़चन डालने और हर बात पर गंदी राजनीति करने की बजाय सबको अपने-अपने काम पर ध्यान देना चाहिए। अगर कानून व्यवस्था नहीं संभल रही है तो इस्तीफ़ा दे देना चाहिए ताकि कोई और कर ले। दिल्ली के लोगों की सुरक्षा राम-भरोसे नहीं छोड़ी जा सकती।

दूसरी तरफ, ‘‘आप’’ के मुख्य प्रवक्ता एवं कैबिनेट मंत्री सौरभ भारद्वाज ने पार्टी मुख्यालय में प्रेस वार्ता कर एलजी वी.के. सक्सेना पर हमला बोला और कहा कि दिल्ली पुलिस एलजी साहब की जिम्मेदारी है। ऑडिट में सामने आया है कि एलजी साहब की नाक के नीचे पुलिस विभाग में प्रोफेशनल सर्विस के पैसे को डायवर्ट कर फर्जी बिलों के जरिए 350 कोड़ रुपए का घोटाला हुआ है। आम आदमी पार्टी की मांग है कि एलजी अपनी नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए इस घोटाले की जांच स्वतंत्र एजेंसी से कराएं।

उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी जानना चाहती है कि एलजी साहब इस मामले में अब तक क्या किए हैं? साथ ही केंद्र सरकार को भी ये बताना चाहिए कि यह कैसे संभव है कि दिल्ली पुलिस के अंदर बड़े-बड़े पुलिस अफसरों 350 करोड़ रुपए का घोटाला किया और इसकी जांच दिल्ली पुलिस ही कर रही है। ऐसा क्यों है कि जिस संस्थान ने घोटाला किया, वही संस्थान उसकी जांच कर रहा है और एलजी साहब चुप बैठे हैं। उन्होंने पूछा कि सीबीआई-ईडी कहां है? अब तक तो एलजी को इस घोटाले की जांच के लिए सीबीआई-ईडी को चिट्ठी लिख देनी चाहिए थी। दिल्ली पुलिस में नकली बिलों के नाम पर 350 करोड़ रुपए का घोटाला हुआ है। अब तक तो इसकी ईडी-सीबीआई से जांच शुरू हो जानी चाहिए थी। एलजी को बताना चाहिए कि वो चुप रह कर किसको बचाना और छिपाना चाहते हैं? क्योंकि इस घोटाले के लिए पूरी तरह से एलजी जवाबदेह हैं। आम आदमी पार्टी मांग करती है कि दिल्ली पुलिस में हुए 350 करोड़ रुपए के घोटाले को लेकर एलजी अपनी स्थिति स्पष्ट करें और स्वंतंत्र जांच एजेंसी से जांच कराएं। एलजी साहब जनता को यह भी बताएं कि दिल्ली की बिगड़ती कानून-व्यवस्था को सुधारने के लिए क्या किया है और आगे उनका क्या प्लान है?

दिल्ली पुलिस 350 करोड़ रुपए के घोटाले पर कर रही लीपापोती- सौरभ भारद्वाज

‘‘आप’’ के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि कुछ दिन पहले दिल्ली पुलिस की एक ऑडिट हुई थी। उससे जानकारी मिली है कि दिल्ली पुलिस में कथित तौर पर करीब 350 करोड़ रुपए का घोटाला हुआ है। बताया जा रहा है कि यह पैसा प्रोफेशनल सर्विसेज के नाम पर आवंटित किया गया था। इसके तहत प्रेफेशनल व विशेषज्ञ को हायर करना था, लेकिन इस पैसे को छोटे-मोटे कामों (जैसे रंगाई-पुताई व मरम्मत के कार्य) में डायवर्ट किया गया। आरोप है कि ठेकेदारों से फर्जी बिल बनवाए गए। उन फर्जी बिलों के अनुसार जो कार्य कराए गए, उसको भी कई गुना बढ़ा-चढ़ा कर दिखाया गया। यह कथित घोटाला गुरुवार को हिन्दी अखबारों में प्रकाशित हुआ। इसके बाद शुक्रवार को भी इस घोटाले की खबरें छपी हैं। जिसे देखकर साफ जाहिर होता है कि दिल्ली पुलिस ने इस घोटाले के उपर लीपापोती करना शुरू कर दिया है। जबकि दिल्ली पुलिस के पास भारत की राजधानी दिल्ली की सुरक्षा व्यवस्था है। दिल्ली में ढेरों वीआईपी हैं, उनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी है।

दिल्ली पुलिस में हुए घेटाले के उपर एलजी का एक भी ट्वीट या चिट्ठी नहीं दिखी और न तो कोई बयान ही आया- सौरभ भारद्वाज

उन्होंने कहा कि एलजी विनय कुमार के रहते ही वित्तीय वर्ष 2022-23 खत्म हुआ है। वो मई 2022 में दिल्ली के एलजी बने थे। आम आदमी पार्टी जानना चाहती है कि एलजी वी.के. सक्सेना के नाक के नीचे इतना बड़ा घोटाला कैसे हो गया? एलजी साहब रोज किसी भी मामले में सीएम अरविंद केजरीवाल को लंबी चिट्ठी लिखते हैं और दुनिया भर की नैतिकता की दुहाई देते हैं लेकिन दिल्ली पुलिस में हुए घेटाले के बारे में एलजी का एक ट्वीट या चिट्ठी नहीं दिखी और न तो कोई बयान ही दिखा। कम से कम मीडिया में ही कुछ प्लांट कर देते, वो भी नहीं दिखा। एलजी साहब की इतनी चुप्पी क्यों है? ऐसा क्या है कि वो छिपा रहे हैं। एलजी साहब को बताना चाहिए कि उनकी नाक के नीचे यह घोटाला कैसे हो गया?

दिल्ली में लगातार बड़ी आपराधिक घटनाएं हो रही हैं, एलजी साहब क्या कर रहे हैं?- सौरभ भारद्वाज

‘‘आप’’ के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने साकेत डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में महिला के उपर हुए जानलेवा हमले की घटना दिल्ली की जनता के सामने रखी। उन्होंने कहा कि किसी भी देश के किसी राज्य में सबसे सुरक्षित जगह न्यायालय होता है। लेकिन आज दिल्ली के साकेत जिला न्यायालय परिसर में एक महिला के उपर फायरिंग की गई। हाईकोर्ट का सख्त आदेश है कि बिना मेटल डिटेक्टर के अंदर गए कोई भी कोर्ट परिसर में प्रवेश नहीं कर सकता है। हर प्रवेश द्वार पर पुलिस तैनात रहती है। पुलिस तलाशी करने के साथ ही आईडी कार्ड भी देखती है। इसके बावजूद उसकी इंट्री कैसे हो गई? कोर्ट के अंदर हथियार कैसे आ गया? पुलिस क्या कर रही है? एक-डेढ हफ्ते पहले भी द्वारका के अंदर एक नामी वकील की हत्या कर दी गई। वकील द्वारका कोर्ट से आ रहे थे। एलजी साहब क्या कर रहे हैं? दिल्ली के अंदर रह रहे बुजुर्ग दंपति की दिन दहाड़े निर्मम हत्याएं और लूटपाट हो रही हैं। पॉश कालोनियों में भी महिलाओं की चेन और मोबाइल स्नैचिंग हो रही है। घर के बाहर से गाड़ी चोरी हो रही है। सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई चोरी के मामले में भी अब पुलिस आरोपी को नहीं ढ़ूंढ पाती है। एलजी साहब कहां हैं, क्या कर रहे हैं?

दिल्ली पुलिस एलजी के अधीन है, फिर भी वो आजतक एक भी पुलिस स्टेशन का दौरा करने नहीं गए- सौरभ भारद्वाज

उन्होंने कहा कि एलजी कहीं भी जाकर घूमना-फिरना कर सकते हैं। वो किसी नाले पर चले जाएं, किसी बाग में चले जाएं, जू में चले जाएं, कहीं भी जा सकते हैं, लेकिन उनको संविधान में लैंड यानी डीडीए और दिल्ली पुलिस दो कार्य दिए गए हैं। एलजी साहब का कार्यकाल करीब एक साल का हो गया है। दिल्ली के अंदर करीब 175 पुलिस स्टेशन हैं। मुझे नहीं लगता है कि एलजी इतने महीने के अपने कार्यकाल में किसी पुलिस स्टेशन में गए हों। बतौर एलजी वो खुद जमीन पर जाकर शौक रखते हैं। इसलिए उनको पुलिस स्टेशन अवश्य जाना चाहिए, क्योंकि यह काम उनको संविधान के तहत मिला है। मेरा मानना है कि एलजी साहब को रोज एक थाने में जाकर पुलिस की व्यवस्था देखनी चाहिए। रिपोर्ट दर्ज कराने आई किसी महिला के साथ पुलिस का बर्ताव कैसा है, ये देखना चाहिए।

एलजी को अपनी जिम्मेदारी निभानी चाहिए, लेकिन वे नाले-नाले घूम रहे हैं, इधर दिल्ली की कानून व्यवस्था खराब हो गई है- सौरभ भारद्वाज

‘‘आप’’ के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि एलजी साहब दिल्ली जल बोर्ड के सीवर और वाटर ट्रीटमेंट प्लांट पर पहुंच जाते हैं। इरिगेशन फ्लड के अंदर दिल्ली सरकार पैसा दे रही है और काम कर रही है और एलजी जाकर अपनी फोटो खिंचवाते हैं। उनको थाने में भी जाकर अपनी फोटो खिंचवानी चाहिए। साकेत कोर्ट परिसर में महिला पर हमला हो गया, वहां भी जाकर उनको फोटो खिंचवानी चाहिए। द्वारका में वकील की हत्या हो गई, उसके घर जाकर उनको फोटो खिंचवानी चाहिए। यह तो उनका काम है। नववर्ष पर एक महिला की निर्मम हत्या की गई। उसको 22 किलोमीटर तक घसीटा गया, एलजी साहब वहां भी नहीं गए। वहां जाकर भी एलजी को फोटो खिंचवानी चाहिए थी। एलजी को अपनी जिम्मेदारी निभानी चाहिए, लेकिन वे नाले-नाले घूम रहे हैं और दिल्ली की कानून-व्यवस्था खराब हो रखी है।

सीएम अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली पुलिस में हुए घोटाले और कानून व्यवस्था पर किया ट्वीट

वहीं, ‘‘आप’’ के राष्ट्रीय संयोजक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर पुलिस विभाग में हुए 350 करोड़ रुपए के कथित घोटाले को लेकर प्रधानमंत्री को निशाने पर लिया। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘‘ प्रधानमंत्री जी, दिल्ली पुलिस आपके अधीन आती है। क्या इसकी जांच होगी? क्या दोषी जेल जाएंगे?’’

सीएम अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली की बिगड़ती कानून व्यवस्था पर भी ट्वीट किया और कहा, ‘‘दिल्ली में क़ानून व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है। दूसरों के कामों में अड़चन करने और हर बात पर गंदी राजनीति करने की बजाय सबको अपने अपने काम पर ध्यान देना चाहिए और अगर नहीं संभलता तो इस्तीफ़ा दे देना चाहिए ताकि कोई और कर ले। लोगों की सुरक्षा रामभरोसे नहीं छोड़ी जा सकती।’’

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *