दिल्ली सरकार के अध्यापकों की तरह निगम अध्यापकों को प्रशिक्षण के लिए भेजेंगे बाहर- डॉ शैली ओबेरॉय

Listen to this article

*दिल्ली की मेयर डॉ शैली ओबेरॉय ने करोल बाग़ क्षेत्र के तीन दिवसीय विज्ञान मेले का शुभारंभ किया

*विज्ञान मेले में प्रदर्शित मॉडलों एवं छात्रों के ज्ञान से मेयर हुईं प्रभावित, शिक्षकों को क्षेत्रीय पुरस्कार समारोह में सम्मानित किया

*दिल्ली सरकार के विश्वस्तरीय शिक्षा मॉडल को दिल्ली नगर निगम में भी करेंगे लागू- डॉ शैली ओबेरॉय

*मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एमसीडी के शिक्षा स्तर में सुधार के लिए 400 करोड़ रुपए जारी किए

एमसीडी के शिक्षकों को भी केजरीवाल सरकार के शिक्षकों की तरह दिल्ली के बाहर से प्रशिक्षण दिलवाया जाएगा। दिल्ली सरकार के शिक्षा मॉडल की तरह ही निगम का शिक्षा मॉडल विकसित किया जाएगा। एमसीडी के शैक्षणिक ढांचे में सुधार के लिए दिल्ली सरकार ने 400 करोड़ रुपए भी दिए हैं। इसकी जानकारी मेयर डॉ शैली ओबरॉय ने विज्ञान मेले का शुभारंभ कार्यक्रम में दी।

दिल्ली की मेयर डॉ. शैली ओबेरॉय ने आज करोल बाग़ क्षेत्र के तीन दिवसीय विज्ञान मेले का शुभारंभ निगम प्रतिभा विद्यालय जेजे‌ शादीपुर पांडवनगर में किया। विज्ञान प्रदर्शनी में मेयर ने करोल बाग क्षेत्र के निगम विद्यालयों द्वारा प्रदर्शित मॉडलों का अवलोकन किया। मेयर ने प्रदर्शित मॉडलों का अवलोकन करते हुए छात्रों से प्रश्न भी पूछे। उन्होंने अध्यापकों के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि छात्रों को काफी अच्छे से सिखाया है। बच्चों में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है। बस उन्हें नई दिशा देने की जरूरत है। इस अवसर पर महापौर ने बच्चों को बेहतर भविष्य देने वाले शिक्षकों को सम्मानित भी किया।

मेयर डॉ. शैली ओबेराय ने बताया कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने निगम विद्यालयों के आधारभूत ढांचे में सुधार के लिए 400 करोड़ रुपये का फंड जारी किया है, जिसका इस्तेमाल विद्यालय भवनों में मरम्मत,नए भवनों के निर्माण, विद्यालयों में सुरक्षा कर्मी, आया और डाटा एंट्री ऑपरेटर की नियुक्ति में भी किया जाएगा। आम आदमी पार्टी निगम विद्यालयों में अध्यापक-छात्र अनुपात को ठीक करने की दिशा में भी कार्य कर रही है। इसके साथ ही वेतन की समस्या पर भी कार्य हो रहा है।

उन्होंने डॉ. भीमराव अंबेडकर को भी याद करते हुए कहा कि बाबा साहब कहते थे कि शिक्षा के माध्यम से समाज को आगे बढ़ा सकते हैं। बाबा साहब के दर्शन से प्रेरणा लेते हुए हमे मिलकर बच्चों का सर्वांगीण विकास करना है, क्योंकि आज के बच्चे कल का भविष्य हैं। हम दिल्ली सरकार के शिक्षा मॉडल को निगम विद्यालयों में लागू करेंगे। हम दिल्ली सरकार के अध्यापकों की तरह ही निगम विद्यालयों में पढ़ाने वाले शिक्षकों को प्रशिक्षण के लिए दिल्ली से बाहर भेजने की योजना पर कार्य कर रहे हैं, क्योंकि अध्यापक को ही बच्चों की अच्छी समझ होती है।

मेयर ने कहा कि कक्षा 1 से 5 वीं तक के बच्चों में पढ़ने एवं गणना संबंधी कौशल का विकास करना बहुत आवश्यक है, ताकि छठी कक्षा में जाने पर इन्हें किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े। मिशन बुनियाद के सफल आयोजन के लिए हम दिल्ली सरकार, एमसीडी, एससीईआरटी मिलकर कार्य कर रहे हैं। बच्चियों की शिक्षा पर हम विशेष रूप से ध्यान देंगे तथा दिल्ली सरकार के शिक्षा मॉडल पर आधारित निगम का शिक्षा मॉडल विकसित करेंगे।

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *