पुलवामा और अडानी समेत देश के गंभीर व बड़े मुद्दों से ध्यान भटका रही भाजपा- संजय सिंह

Listen to this article
  • पुलवामा में पांच एयरक्रॉफ्ट देने में कोताही के चलते जवानों की हुई शहादत के लिए जिम्मेदारों और सत्यपाल मलिक के आरोपों पर भी चर्चा करे भाजपाः संजय सिंह
  • पुलवामा में किसने की गद्दारी, कब होगी अडानी के महाघोटाले की जांच, कैसे एक फकीर लाखों का शूट-चश्मा पहनता है, कोरोना में ‘नमस्ते ट्रंप’ में हुए खर्च का भी जवाब दे भाजपा- संजय सिंह
  • 1942 में बने 80 साल पुराने सीएम आवास में छत गिरने की हो चुकीं तीन घटनाएं, पीडब्ल्यूडी के सुझाव पर 30 करोड़ में बना नया आवास- संजय सिंह
  • प्रधानमंत्री के आवास के रिनोवेशन पर 90 करोड़ खर्च हुआ और 500 करोड़ की लागत से बन रहा पीएम का नया आवास – संजय सिंह
  • कोरोना में पीएम की जारी रही रईसी, सेंट्रल विस्टा पर 23 हजार करोड़, आवास की मरम्मत पर 90 करोड़, हवाई जहाज खरीदने पर 8400 करोड़ और कार पर 12 करोड़ किए खर्चः संजय सिंह
  • दिल्ली के एलजी ने अपने आवास की सिर्फ मरम्मत करने में 15 करोड़ रुपए खर्च किए- संजय सिंह
  • गुजरात के सीएम रहे विजय रुपाणी ने अपने इस्तेमाल के लिए 191 करोड़ रुपए और मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह ने 65 करोड़ में खरीदा हवाई जहाज – संजय सिंह

आम आदमी पार्टी बुधवार को भी भाजपा पर हमलावर रही। पार्टी मुख्यालय में प्रेसवार्ता कर ‘‘आप’’ के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने कहा कि भाजपा देश के गंभीर और बड़े मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाना चाहती है। इसलिए वह सीएम आवास को लेकर बेबुनियाद आरोप लगा रही है, ताकि पुलवामा पर तत्कालीन उपराज्यपाल सत्यपाल मलिक के आरोपों और अडानी के लाखों करोड़ रुपए के महाघोटाले समेत गंभीर मुद्दों से देश के लोगों का ध्यान हटाया जा सके। उन्होंने कहा, सत्यपाल मालिक ने आरोप लगाया है कि पुलवामा में पांच एयरक्रॉफ्ट नहीं मुहैया कराया गया और इस कोताही की वजह से हमारे जवानों की शहादत हुई। भाजपा इसके लिए जिम्मेदार लोगों पर क्यों नहीं चर्चा कर रही है? भाजपा बताए कि पुलवामा में देश के साथ किन लोगों ने गद्दारी की थी? साथ ही यह भी बताए कि अडानी के लाखों करोड़ रुपए के महाघोटाले की जांच कब होगी, कैसे एक ‘फकीर प्रधानमंत्री’ लाखों का शूट- चश्मा पहनता है? भाजपा को यह भी बताना चाहिए कि कोरोना में ‘नमस्ते ट्रंप’ के आयोजन में कितने रुपए फूंके गए?

राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने कहा कि पुलवामा में हमला और अडानी के लाखों करोड़ रुपए के महाघोटाला समेत देश के गंभीर और बड़े मुद्दों से ध्यान हटाने के लिए सीएम अरविंद केजरीवाल के घर को लेकर फिजूल की चर्चा हो रही है। दिल्ली के मुख्यमंत्री का घर 1942 में बना था। यह घर 80 साल पुराना है। पिछले दिनों में इस घर में छत गिरने की तीन घटनाएं हो चुकी हैं। पहले सीएम के माता-पिता के कमरे की छत गिर गई थी। इसके बाद मुख्यमंत्री के बेडरूम और उनके ऑफिस की छत भी गिर गई थी। इन घटनाओं के बाद पीडब्ल्यूडी ने पुराने घर को तोड़कर नया घर बनाने की सलाह दी। इसके बाद 30 करोड़ की लागत से सीएम का आवास बनाया गया है।

आप सांसद ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दावा करते हैं कि मैं तो एक फकीर हूं और सिर्फ झोला लेकर कहीं भी चल देता हूं। उनका घर बनाने में 500 करोड़ रुपए खर्च किए जा रहे हैं। इससे पहले, प्रधानमंत्री जिस घर में रह रहे हैं, उसकी मरम्मत मात्र में 90 करोड़ रुपए खर्च किए गए। सेंट्रल विस्टा का प्रोजेक्ट 20 हजार करोड़ रुपए का है। अब यह बढ़कर प्रोजेक्ट 23 हजार करोड़ रुपए का हो गया है। इस प्रोजेक्ट के अंतर्गत पीएम के लिए 500 करोड़ रुपए की लागत से घर बना रहा है। खुद को फकीर बताने वाले पीएम मोदी 10 लाख रुपए का सूट पहनते हैं, 1.6 लाख रुपए का चश्मा और 1.25 लाख का पेन इस्तेमाल करते हैं। प्रधानमंत्री के काफिले में कई सारी कारें चलती हैं। इसमें हर एक कार 12 करोड़ रुपए कीमत की है।

संजय सिंह ने कहा कि दिल्ली के एलजी ने भी अपने आवास की मरम्मत कराई है। उन्होंने अपने घर की सिर्फ मरम्मत में ही 15 करोड़ रुपए खर्च कर दिए। इसके अलावा, गुजरात के सीएम रहे विजय रूपाणी ने अपने निजी इस्तेमाल के लिए 191 करोड़ रुपए से हवाई जहाज खरीदा, जबकि मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान के लिए हवाई जहाज खरीदने में 65 करोड़ रुपए खर्च हुए।

राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने कहा कि भाजपा के प्रवक्ता जब कोरोना महामारी का जिक्र कर रहे थे, तब ऐसा लग रहा था कि उनकी आंखों से आंसू निकल आएंगे। भाजपा के लोगों को दूसरों पर उंगली उठाने से पहले अपने गिरेबान में झांकना चाहिए। भाजपा के लोग भूल चुके कि जिस समय कोरोना महामारी के कारण देश में लोग मर रहे थे, उस समय प्रधानमंत्री पश्चिम बंगाल के चुनाव में रैली करके वोट मांग रहे थे। कोरोना महामारी के दौरान जब श्मशानों में लाशें बिछी हुई थीं, उस वक्त पीएम नरेंद्र मोदी चुनाव प्रचार में व्यस्त थे।

उन्होंने भाजपा को याद दिलाते हुए कहा कि 12-12 करोड़ रुपए कीमत की कार खरीदने का फैसला उस वक्त हुआ, जब कोरोना की महामारी में लोग मर रहे थे और श्मशानों में लाशें बिछी हुई थीं। भाजपा के लोग यह भी भूल गए कि खुद को फकीर और चाय बेचने वाला कहने वाले पीएम मोदी ने कोरोना की महामारी के दौरान ही अपने लिए 8400 करोड़ रुपए का जहाज खरीदा। इसलिए भाजपा को कोरोना महामारी की बात नहीं करनी चाहिए। देश के प्रधानमंत्री एक दिन में कितने रंग बदलते हैं और कितने कपड़े पहनते हैं, कैसे शहंशाह-ए-आलम की तरह रहते हैं, यह किसी से छिपा नहीं है।

‘‘आप’’ के वरिष्ठ नेता संजय सिंह ने कहा कि असल में मुद्दा यह है कि पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने पुलवामा की घटना में जो लापरवाही बरतने का मुद्दा उठाया है, आखिर हमारे जवानों की शहादत के लिए कौन जिम्मेदार है? अगर जवानों के लिए पांच एयरक्रॉफ्ट मांगे जा रहे थे तो उन्हें वे क्यों नहीं मिले? जब भारत के प्रधानमंत्री 8400 करोड़ रुपए का अपने लिए हवाई जहाज खरीद सकते हैं तो हमारे वीर जवानों की जिंदगी बचाने के लिए पांच एयरक्रॉफ्ट क्यों नहीं दिए गए? हम इन मुद्दों पर चर्चा करने की मांग कर रहे हैं।

असल मुद्दा यह है कि प्रधानमंत्री ने अडानी के साथ मिलकर लाखों करोड़ रुपए का महाघोटाला किया। मॉरीशस में एक पते पर 6 कंपनियां खोलकर 42 हजार करोड़ रुपए का कालाधन अडानी की कंपनियों में लगाया गया। हमारी मांग है कि इसकी जांच के लिए जेपीसी बनाई जाए। असल मुद्दा यह है। सवाल यह भी उठ रहा है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद और नियमों के विपरीत जाकर छह से आठ कोल ब्लॉक अडानी को क्यों दे दिया गया? एयरपोर्ट, सीपोर्ट और देश की सारी संपत्तियां एक ही व्यक्ति को नीलम कैसे की जा रही हैं? इन मुद्दों पर चर्चा करने के लिए कोई तैयार नहीं है? भाजपा मुख्यमंत्री के घर को चर्चा का विषय बनाना चाहती है, ताकि असली मुद्दों से देश का ध्यान भटकाया जा सके।

राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने कहा कि असल मुद्दा यह है कि पुलवामा में मारे गए हमारे जवानों की शहादत के लिए कौन जिम्मेदार है? जो सवाल तत्कालीन राज्यपाल सत्यपाल मलिक उठा रहे हैं, भाजपा को उसका जवाब देना चाहिए। अडानी के लाखों करोड़ रुपए के महाघोटाले को लेकर केंद्र सरकार कब जवाब देगी और कब चर्चा होगी? सीएम आवास एक एकड़ में और एलजी आवास छह एकड़ में बना है। एलजी अपने आवास की मरम्मत के लिए 15 करोड़ रुपए खर्च करते हैं, भाजपा इसका जवाब कब देगी? जब कोरोना महामारी का पूरे भारत में भय का माहौल था, उस वक्त नमस्ते ट्रंप के नाम पर सैकड़ों करोड़ रुपए खर्च किए गए। इसके लिए कौन जिम्मेदार है? हमारी मांग है कि भाजपा असल मुद्दों पर भी चर्चा करें।

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा दिखाएं नैतिक साहस और पूछें पीएम से ये सवाल

राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने कहा कि भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा के अंदर जरा भी नैतिक शेष है तो वह अपने प्रधानमंत्री को पूरे देश से हाथ जोड़कर माफी मांगने के लिए बोलें कि कोरोना महामारी के समय उन्होंने चुनावी रैलियां कर कोरोना क्यों फैलाया था। जब लोग चिल्ला रहे थे तब कहां थे? संबित पात्रा प्रधानमंत्री से यह भी पूछें कि जब कोरोना महामारी के दौरान देश भर में लोग मर रहे थे, तब पीएम ने अपने लिए 8400 करोड़ रुपए का जहाज क्यों खरीद रहे थे? कोरोना के दौरान पीएम अपने काफिले के लिए 12-12 करोड़ रुपए की कारें क्यों खरीद रहे थे? संबित पात्रा को अपने प्रधानमंत्री से इन सवालों को पूछना चाहिए।

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *