उपराज्यपाल द्वारा मुख्यमंत्री के बंगले में जनधन की लूट के मामले में जाँच का आदेश देना और रिपोर्ट को 15 दिन के अंदर सबमिट करने का भाजपा स्वागत करती है

Listen to this article

*उपराज्यपाल द्वारा दिया गया आदेश केजरीवाल के तानाशाही रवैया और उनकी सोच कि वह संविधान और कानून से ऊपर हैं, पर एक जोरदार तमाचा है-मनोज तिवारी

*भाजपा द्वारा लगाए हर आरोप सही साबित हुए है और अब सत्येन्द्र जैन और मनीष सिसोदिया के साथ जेल के अंदर जल्द ही अरविंद केजरीवाल भी दिखाई देने वाले हैं-रामवीर सिंह बिधूड़ी

दिल्ली भाजपा के पूर्व अध्यक्ष एवं सांसद मनोज तिवारी, नेता प्रतिपक्ष श्री रामवीर सिंह बिधूड़ी और प्रदेश महामंत्री श्री हर्ष मल्होत्रा ने आज एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए उपराज्यपाल द्वारा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के शीशमहल में खर्च हुए 45 करोड़ रूपये की जाँच के आदेश का स्वागत किया। प्रेस वार्ता में प्रदेश प्रवक्ता श्री हरीश खुराना एवं श्री प्रवीण शंकर कपूर और मीडिया रिलेशन के सह प्रमुख श्री विक्रम मित्तल उपस्थित थे।

श्री मनोज तिवारी ने उपराज्यपाल द्वारा इस पूरे मामले में जाँच का आदेश देना और रिपोर्ट को 15 दिन के अंदर सबमिट करने के आदेश का स्वागत किया और कहा कि उपराज्यपाल द्वारा दिये गये आदेश ने एक बार फिर से साबित क़र दिया कि भारत में अभी भी संविधान और कानून सक्रिय है। केजरीवाल ने संवेदनहीनता के सारे मानक तोड़ दिए है और साथ ही भ्रष्टाचार की सारी सीमायें लांघ दी है। उन्होंने कहा कि उपराज्यपाल द्वारा दिया गया आदेश केजरीवाल के तानाशाही रवैया और उनकी सोच कि वह संविधान और कानून से ऊपर हैं, पर एक जोरदार तमाचा है।

मनोज तिवारी ने कहा कि मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल और मुख्यमंत्री के पहले वाले केजरीवाल में अंतर आना बताता है कि उन्होंने जनता को भ्रमित करने की हमेशा से कोशिश की है। आज बड़े-बड़े कॉमन वेल्थ गेम के घोटाले करने वाले भी केजरीवाल के सामने बौने नजर आते हैं। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने अगर चोरी और भ्रष्टाचार नहीं किया है तो अपने आवास में मीडिया वालों को घुसने क्यों नहीं देते हैं। हमारे यहाँ तो मीडिया सादर आमंत्रित हैं जबकि आम आदमी की बात करने वाले केजरीवाल के शीशमहल का दरवाजा हर किसी के लिए क्यों बंद हैं ?

नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि अरविन्द केजरीवाल और उनके मंत्रियों द्वारा ज़ब भी भ्रष्टाचार किया गया और जो भी आरोप विधानसभा के अंदर और बाहर हम लगाते रहे हैं, वह सब सच साबित हुये हैं और अब सत्येन्द्र जैन और मनीष सिसोदिया के साथ जेल के अंदर अरविन्द केजरीवाल भी दिखाई देने वाले हैं। केजरीवाल के जिन साथियों पर आरोप लगते थे वह उन्हें क्लीन चिट देकर कट्टर ईमानदार बता देते थे। सिसोदिया को भी केजरीवाल ने क्लिन चिट दी पर केजरीवाल और उनके मंत्रियों पर जो भी आरोप लगे वह न्यायलय में सही साबित हो रहे हैं।

बिधूड़ी ने कहा कि मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल द्वारा जो 45 करोड़ रूपये खर्च किये गये, वह तो भ्रष्टाचार हुआ ही साथ ही केजरीवाल ने दो-दो आई.ए.एस. अधिकारीयों के घर को भी तोड़ कर अपने में मिला लिया है। उन्होनें कहा कि दिल्ली में एलजी बदले गए तो कार्रवाई रुक गयी लेकिन केजरीवाल को यह नहीं भूलना चाहिए कि कोई भी सरकार नियम-कानून से चलती है ना कि किसी की मनमानी से।

दिल्ली में ऐसे कोई भी मुख्यमंत्री नहीं रहे जिन्होंने इतना ऐशो आराम किया हो। स्वः श्री मदन लाला खुराना हो या फिर स्वः डॉ. साहिब सिंह वर्मा हों उन्होंने सादगी का जीवन बिताया लेकिन आज एक ऐसा मुख्यमंत्री है जो देश का सबसे बड़ा भ्रष्टाचारी मुख्यमंत्री हैं। ना नियम-कानून से चलता है ना किसी संवैधानिक व्यवस्था को मानता है।

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *